Palash Biswas On Unique Identity No1.mpg

Unique Identity No2

Please send the LINK to your Addresslist and send me every update, event, development,documents and FEEDBACK . just mail to palashbiswaskl@gmail.com

Website templates

Zia clarifies his timing of declaration of independence

What Mujib Said

Jyoti basu is DEAD

Jyoti Basu: The pragmatist

Dr.B.R. Ambedkar

Memories of Another Day

Memories of Another Day
While my Parents Pulin Babu and basanti Devi were living

"The Day India Burned"--A Documentary On Partition Part-1/9

Partition

Partition of India - refugees displaced by the partition

Friday, January 15, 2016

दोगलापन छोड़ेंगे तो नफरत और तनाव घटेगा!भारत की 6 सबसे बड़ी गोश्त सप्लाई करने वाली कम्पनियों में से 4 के मालिक ब्राम्हण हैं। दुनिया का सबसे बड़ा "Beef meet🐃 exporter country"ब्राज़ील है, उसके बाद India,Australia,USA और UK. का न० आता है।


TaraChandra Tripathi shared Shailesh Kumar's photo.




Shailesh Kumar

एक खबर पढ़ के मुझे बड़ा आश्चर्य हो रहा है!!!
भारत की 6 सबसे बड़ी गोश्त सप्लाई करने वाली कम्पनियों में से 4 के मालिक ब्राम्हण हैं। दुनिया का सबसे बड़ा "Beef meet🐃 exporter country"ब्राज़ील है, उसके बाद India,Australia,USA और UK.
का न० आता है।
4 बड़ी भारतीय कम्पनियां और उनका पता-

4 बड़ी भारतीय कम्पनियां और उनका पता-
1-Al-kabeer Exports Pvt Ltd.
(Owner- Shree Shatish &
Atul Sabharwal) 92, jolly
makers/ chembur Mumbai
400021
2- Arabian Exports pvt Ltd.
(owner- Shree Sunil Kapoor)
Russion mentions, Overlies,
Mumbai 400001
3-M.K.R frozen food Exports pvt Ltd (Owner-Shree Madan Abot)MG Road, Janpath
NEW DELHI 110001
4-P.M.L Industries pvt.Ltd
(Owner- shree A.S bindra)
S.C.O. 62-63Sector 3
4-A Chandigarh 160022
मुसलमान तो ऐसे ही बदनाम किये जाते हैं
मुस्लिम नामों से मीट कम्पनियां चलाने वाले हमारे भारतीय ब्राम्हण भाई लोगों का, मांसाहार का विरोध करने वाले लोग, विरोध क्यों नही करते ?? ( हम मुसलमान लोग मांस का व्यापार करने वाले ब्राम्हण व्यापारी के व्विरोधी नहीं है)
अभी पिछले दिनों बकरीद पे फेसबुक पे तरह तरह की फोटो डाल के मुसलमानों के खिलाफ माहोल बनाया गया।
जबकि विश्व प्रसिद्ध "पशुपति नाथ" के मंदिर, हिमाचल प्रदेश के कई मंदिरों में बलि🐃🐃 की प्रथा आज भी प्रचलित है।
अभी नेपाल के विश्व प्रसिद्ध "गढ़ीमाई मंदिर " बेरियापुर में 28-29 नवम्बर को 5 लाख पशुओं की बलि दी जानी है।
यकीन ना हो तो Google पे सर्च कर सकते हैं।
कुछ समय पहले उत्तर कोरिया के एक महंगे होटल की फोटो अखबारों में छपी थी, जिसमें 4-5 महीने के ढ़ेर सारे human embryo किचन की
रस्सी पे लाइन से बंधे लटके हुये थे।
मांसाहारी लोग White meat के बारे में जरूर सुने होगें, जो इंग्लैंड, अमेरिका आदि देशो में बहुत खाया जाता है।
कभी सोचा है कैसे बनता है ???
गाय के बछड़े को महीनों भूखा रखा जाता है,जब वो मरणासन्न हो जाता है, तब उसे काटते हैं ।
कम से कम मुसलमान इतना नहीं गिरा है|
🐃🐃🐃🐃🐃🐃🐃🐃🐃🐃 send kare pls
एक रिपोर्ट के अनुसार India में रोजाना (Daily) 30 लाख जानवर लोग खाने के लिये कत्ल (Murder) कर देते हैं.
.
अगर लोग सिर्फ़ india में 1 साल के लिए मांस खाना बंद कर दें तो
3000000×365=1095000000
यानि 1 साल में लगभग 100 करोड़ जानवर बच जाएंगे इसके हिसाब से india में हर इंसान के साथ एक जानवर होगा.
10 सालों में हर इंसान के साथ 10 जानवर होगे
30 लाख जानवर रोज कत्ल होते है तो एक जानवर में 20 किलो मांस निकलता है तो
3000000×20=60000000 Kg.
6 करोड़ किलो मांस रोज निकलता है
एक इंसान 100 gm. मांस खाता है तो 100 gm. Par head 60 करोड़ लोग मिलकर खाते है .
India में मुस्लिम समुदाय 15 करोड़ (अंदाज) है ....
45 करोड़ लोग कौन ह ??????
भारत की राजनीति की वजह से मुस्लिम 15 करोड़ में भी 80% गरीब ह, जो दाल रोटी भी मुश्किल से खा पाते हैं
ये सिर्फ़ बड़े जानवर की बात है
इसमे मुर्गा , मछली और भी कई चीजें शामिल नहीं है
हमारी Indian Government विदेशी Non-Veg Restaurants को खुद license देते है जिसमें KFC, Mc Donald's, Sub Way, Domino's और भी कई कंपनियां ये सब non veg dishes बनाते हैं और इन सब कंपनी को बड़े बड़े hoardings posters और TV विज्ञापन करने की पूरी आजादी है.
ये कंपनियां रोज लाखों जानवरों को कत्ल कर देते हैं इनको license हमारी सरकार देती है एक गरीब आदमी के license के पीछे सारे लोग लग जाते है बड़ी कंपनी की तरफ से आंख बंद कर लेते है
आज तक ऐसा नहीं हुआ के शाकाहारी लोगों ने इन बड़ी कंपनियों के खिलाफ आवाज उठाई हो उठे भी तो कैसे
देश चलाने के लिए शाकाहारी होना जरूरी नहीं है
आज हम जानवरों को बचाने (पकड़वाने) की बात करते है वहीं हजारों लोग शराब और तम्बाकू से मर रहे हैं उसके license का विरोध कोइ नहीं करता.
जीन लोगों को इन्सानों के जान की फिक्र नहीं है और वो जानवरों की फिक्र करते हैं ?
आज जरूरत है इन सब के खिलाफ आवाज उठाने की लेकिन सबसे पहले मैं कहूंगा "हम सुधरेंगे युग सुधरेगा"
.
एक कड़वा सच....
दोगलापन छोड़ेंगे तो नफरत और तनाव घटेगा

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!